बम भोले बम भोले बम बम बम Bum Bhole Bum Bhole Bum Bum Bum



बम बम भोले
यही वो तंत्र है
यही वो मन्त्र है
प्रेम से जपोगे तो मिटेंगे सारे गम

कभी योगी कभी भोगी
कभी बाल बर्मचारी
कभी आदि देव महादेव तिर्पुरारी
कभी शंकर कभी शम्भू
कभी बोले भंडारी नाम है
अनंत तोरे जग बिलहारी
शिव का नाम लो
सुबह शाम लो
गाते रहो जब तक
दम में है दम

बम भोले बम भोले बम बम बम

दक्ष प्रजापति जब हुंकार
तिरशूल से शीश उतारा
माफ़ी मांगी  होश में आओ
बकरे का जब शीश लगायो
आशुतोष भोले बाबा भये परसन
बकरे ने मुख से जो बोली बम बम

बम भोले बम भोले बम बम बम

कला तित कल्याण कल्पान्त कारी
सदा सन्त दानंद दाता पुरारी
चिता नन्द समहोह मोहे परारी
परती परती परदु मन मंतरी
ध्यान लगाई के ज्योत जलाई के
ध्यान लगाई के ज्योत जलाई के
शिव को पुकारते चलो जी हर दम

बम भोले बम भोले बम बम बम

खेल रही है जटा गंगा
बाजे डमरू पिकर भंगा
खप्पर खाल बगम्बर अंगा
मेरो भोला मस्त मलंगा
गुरु दासः मांगे तेरी नज़ारे करम

बम भोले बम भोले बम बम बम

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*
*