भोले बाबा ने सानू वी मस्त बणा लया Bhole Baba ne Sanu vi Mast Bana Leya – Bhakti Sangeet

 

भोले बाबा ने सानू वी मस्त बणा लया Bhole Baba ne Sanu vi Mast Bana Leya





दर-दर भटकदयां नूं सानूं चरणां दे नाल ला लया,
भोले बाबा ने सानू वी मस्त बणा लया

मस्ती दे विच मस्त है भोला, मस्तां दा वी मस्त है भोला,
इस तों वडा कोई मस्त न, सब तों वडा मस्त है भोला,
ऐसी मस्ती दे विच तन-मन, आपां वी रंगवा लया,

भंग नूं रगड़ा लाया भक्तां, भोले दा नाम ध्याया भक्तां,
भोले नूं फिर भोग लवा के, सब नूं ही वरताया भक्तां,
बम-बम भोले बोल के जद, पूरा भर के लोटा ला लया,

मस्ती विच भोले भंडारी, ऐसी किरपा कीती न्यारी,
ऐसी मस्ती चाढ़ दिती ए, जांदी न हुण सुरत संभाली,
“राजू उत्तम” वरगेयां ते भोले ने करम कमा  लया