ऐना अखियाँ च मोहन वसा रखेया ए Ana Ankhiya ch Mohan Vasaye Rakhiya ae – Bhakti Sangeet

https://youtu.be/ASQ19WuoHuQ

 

ऐना अखियाँ च मोहन वसा रखेया ए Ana Ankhiya ch Mohan Vasaye Rakhiya ae





ऐना अखियाँ च मोहन वसा रखेया ए
एह नगीना मैं मुंदरी जड़ा रखेया ए

मेरे योगिया मैं तेरे दर दी भिखारन
कानू योगन तो मुखड़ा छुपा रखेया ए

जमाने दी इस नु नज़र लग ना जावे
ताहिओ गोरे तो काला बना रखेया ए

छवि सावरे दी रवावेंदी हर दम
नी मैं दिल दे कमल ते बिठा रखेया ए