Bhar do Jholi Sai Nath – Hindi Lyrics – Bhakti Sangeet





साईं नाथ साईं नाथ साईं नाथ
साईं नाथ साईं नाथ साईं नाथ
मेरे झर झर आंसु बहते, तुझसे साईं यह कहते
बरसों बीते दुख सहते अब सुन लो मेरी सदा
भर दो झोली भर दो झोली भर दो झोली साईं नाथ

तुम ही जल में तू ही थल में, तेरा हर रूह में बसेरा..
लाख आंधी तूफानों में, दीयों से करें सवेरा..
मैं भी फरियादी आया हूं दर्द ए गम का सताया
किस्मत ने बडा रुलाया अब सुन लो मेरी सदा
भर दो झोली…

कहे जो तू तो बंजर में, बहती गंगा की धारा..
लाख गहरा समंदर हो, डूबे ना मिले किनारा..
मुझ को अपनों ने छोडा गुरबत जिल्लत ने तोड़ा
अब तुझसे नाता जोड़ा अब सुन लो मेरी सदा
भर दो झोली…




हर जनम में संग तेरा, चाहू मैं साईं बाबा..
तू ही मथुरा तू ही काशी, तू ही है मेरा काबा..
लव राज तेरा दीवाना, चाहे रोके लाख जमाना
हर दर्द तुझे ही सुनाना अब सुन लो मेरी सदा
भर दो झोली…

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*
*