एक आँख में सूरज सधा Ek Aankh Mein Suraj Sadha – Bhakti Sangeet

एक आँख में सूरज सधा Ek Aankh Mein Suraj Sadha

एक आँख में सूरज साधा एक आँख में चंद्रमा आधा
एक आँख में सूरज साधा एक आँख में चंद्रमा आधा



एक आँख में सूरज साधा एक आँख में चंद्रमा आधा
एक आँख में सूरज साधा एक आँख में चंद्रमा आधा

एक आँख में सूरज साधा एक आँख में चंद्रमा आधा
एक आँख में सूरज साधा एक आँख में चंद्रमा आधा

दो आँखों में साध ली तूने इस जाग की मर्यादा

ओ मेरे भोले बाबा ओ शंकर भोले बाबा
ओ मेरे भोले बाबा ओ शंकर भोले बाबा

ओम नमः शीवाए
ओम नमः शीवाए

ओम नमः शीवाए
ओम नमः शीवाए

कोई ना जाने इस दुनिया का कब तूने निर्माण किया
हे श्रीष्टि करता कब तूने जीवन का वरदान दिया
ना कोई समझा है यह अब तक ना समझेगा बाबा

ओ मेरे भोले बाबा ओ शंकर भोले बाबा
ओ मेरे भोले बाबा ओ शंकर भोले बाबा

ओम नमः शीवाए
ओम नमः शीवाए

ओम नमः शीवाए
ओम नमः शीवाए

हम प्राणी है खेल खिलौने तू चाहे जैसे खेले
तेरी कृपा से लगे हुए है यह जीवन के मेले
कैसे चले हम सीधे पाठ पे तू हमको बतला जा

ओ मेरे भोले बाबा ओ शंकर भोले बाबा
ओ मेरे भोले बाबा ओ शंकर भोले बाबा

ओम नमः शीवाए
ओम नमः शीवाए

ओम नमः शीवाए
ओम नमः शीवाए

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*
*