कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान तुम्हारा क्या कहना Kalyug Me Siddh ho Dev Tumhi Hanuman Tumhara Kya Kahna – Bhakti Sangeet

 

कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान तुम्हारा क्या कहना Kalyug Me Siddh ho Dev Tumhi Hanuman Tumhara Kya Kahna





कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान तुम्हारा क्या कहना ।
तेरी शक्ति का क्या कहना, तेरी भक्ति का क्या कहना

सीता की खोज करी तुमने, तुम सात समुन्दर पार गये।
लंका को -किया शमशान प्रभु, बलवान तुम्हारा क्या कहना।
तेरी शक्ति का क्या कहना, तेरी भक्ति का क्या कहना

जब लखन लाल को शक्ति लगी तुम घोलगिर पर्वत लाये,
लक्ष्मण के बचाये आ कर के तब प्राण तुम्हारा क्या कहना,
तेरी शक्ति का क्या कहना, तेरी भक्ति का क्या कहना

तुम भक्त शिरोमनी हो जग मे तुम वीर शिरोमनी हो जग मे,
तेरे रोम रोम मे बसते हैं सिया राम तुम्हारा क्या कहना