Mangal Murati Maruti Nandan Sakal Amangal Mool Nikandan – Lyrics – Bhakti Sangeet

Mangal Murati Maruti Nandan Sakal Amangal Mool Nikandan मंगल मूरति मारुती नंदन





मंगल मूरति मारुती नंदन
सकल अमंगल मूल निकंदन

पवन तनय संतन हितकारी
हृदय विराजत अवध बिहारी

मात पिता गुरु गणपत शारद
शिवा समेत शभु सुक नारद

चरण बंदी बिनवौ सब काहू
देहु राम पद नेह निबाहू

बन्दहुँ राम लखन बैदेही
यह तुलसी के प्रमा सनेही