रूस ना जावीं मोहन मेरे जीवन मेरा सहारे तेरे Roos na Javi Mohan Mere Jeevan Mera Sahare Tere – Bhakti Sangeet

 

रूस ना जावीं मोहन मेरे जीवन मेरा सहारे तेरे Roos na Javi Mohan Mere Jeevan Mera Sahare Tere





रूस ना जावीं मोहन मेरे, जीवन मेरा सहारे तेरे

चंगे माड़े असीं हां तेरे, माफ़ तू करदे अवगुण मेरे
हाथ रहे तेरा सर ते मेरे, जीवन मेरा सहारे तेरे
रूस ना जावीं मोहन मेरे…

अपने पराये ताने मारदे, वास्ते तैनू मेरे प्यार दे
अपना बना ले प्रीतम मेरे, जीवन मेरा सहारे तेरे
रूस ना जावीं मोहन मेरे…

तू रुसेया ते किस दर जावां, हाल दिलां दा किसनू सुनवा
कौन सुनेगा दुखड़े मेरे, जीवन मेरा सहारे तेरे
रूस ना जावीं मोहन मेरे…

मेरा जीवन काहदा जीवन, तेरी याद बिना जो बीते,
मेरी निभ जावे दर ते तेरे, जीवन मेरा सहारे तेरे
रूस ना जावीं मोहन मेरे..