सामने आओगे या आज भी पर्दा होगा Saamne Aaoge ya Aaj bhi Parda Hoga – Lyrics – Bhakti Sangeet

 

सामने आओगे या आज भी पर्दा होगा Saamne Aaoge ya Aaj bhi Parda Hoga





सामने आओगे या आज भी पर्दा होगा,
रोज़ अगर ऐसा ही होगा तो कैसा होगा ।

मौत आती है तो आ जाए कोई गम ही नहीं,
वो भी तो आएगा तो मेरा मसीहा होगा ।

मैंने मोहन को बुलाया है वो आता होगा,
तुम भी आना मेरे घर आज तमाशा होगा ।

हम गुहगारो ने सोचा ही नहीं था प्यारे,
जिक्र मोहन की गली में भी हमारा होगा ।